Saturday, May 25, 2013

बुद्ध जयन्ती पर विशेष.......यशोदा



भगवान बुद्ध मुस्कराए
वो तो हरदम
रहते हैं धीर-गम्भीर
पर मुस्कुराए जरूर
पर....
एक बार मात्र..
जब..
महामना ए पी जे अब्दुल कलाम
राष्ट्रपति थे...और
श्रद्धेय श्री अटल जी प्रधान मंत्री....
तब की साल
भगवान श्री बुद्ध..की
धीरता-गम्भीरता
मुस्कुराहट में बदल गई थी..
पर आज-कल की राजनीतिज्ञों
की गतिविधियाँ उन्हें रुला कर
ही मानेगी....
-यशोदा

12 comments:

  1. बिल्कुल सही.....

    ReplyDelete
  2. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति,आभार.

    ReplyDelete
  3. gautam ki smritio ki anupam dharohar ko aaj ke sandarbh me rupantarit kari behatareen prastuti

    ReplyDelete
  4. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (26-05-2013) के चर्चा मंच 1256 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

    ReplyDelete
  6. काश कि राज-नीतिज्ञों को भी कुछ बोध मिलता !

    ReplyDelete
  7. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति,

    ReplyDelete
  8. सही कह रहे हैं आप....

    ReplyDelete