Tuesday, September 11, 2012

क्या पाया है, आपकी याद में .......रचनाकात :: अज्ञात

आपकी याद में
आँखें नम रहती हैं, आपकी याद में
साँसें थमी हैं , आपकी याद में

होंठ तो चुप रहते हैं लेकिन
 

अब खामोशियाँ बोलती हैं, आपकी याद में


न खुद की खबर है और न दुनिया की कोई खबर

सबको भूल गए हैं, आपकी याद में



इश्क की बातें सुनी थी जमाने से

इश्क को जाना है, आपकी याद में



जिंदगी की खूबसूरती के बारे में पढ़ा था किताबों में

इसकी खूबसूरती को महसूस किया है, आपकी याद में



यादों की दुनिया में खोई रहती हूँ आजकल

दीवानी हो गई हूँ, आपकी याद में



बहुत बेचैन रहती हूँ आजकल

दिल की धड़कनें अब धड़कती हैं, आपकी याद में



सजती-संवरती रहती हूँ आजकल दिन भर

खुद से मोहब्बत करने लगी हूँ, आपकी याद में



न जाने क्या-क्या खोया ?

और क्या-क्या पाया है, आपकी याद में ...

रचनाकात :: अज्ञात
प्रस्तुति करण :: सोनू अग्रवाल


17 comments:

  1. किसी की याद में सब कुछ भुला देना ...
    गज़ब लिखा है ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया नासवा भाई साहब

      Delete
  2. और क्या-क्या पाया है, आपकी याद में ...
    दिलफरेब भी...दिलकश भी....
    बहुत खूब...................

    ReplyDelete
  3. आँखें तो मेरी भी आंसुओं से भर गई हैं |न बहने का नाम लेते हैं न थमने का |बस झिलमिलाता है उनमें एक चेहरा |

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी पहली प्रतिक्रिया पर आपकी एक पंक्ति....आभर
      ये मेरे ज़िन्दगी का पहला एहसास था वोटिंग का.............जिसे हम अपने दिल-ओ-दिमाग में सहेज कर रखेंगे....!

      Delete
  4. उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुभ संध्या
      शुक्रिया रवि भाई
      आभार

      Delete
  5. गहन भाव लिए उत्‍कृष्‍ट प्रस्‍तुति ...

    ReplyDelete
  6. दीदी शुक्रिया

    ReplyDelete
  7. Replies
    1. शुक्रिया...
      आप मेरी धरोहर में पधारे
      बस भैय्या मैं पढ़ती हूँ और
      यदि कम्प्यूटर पर पढ़ी तो यहाँ सहेज लेती हूँ
      पत्र-पत्रिका में छपी रचना को पुरानी कॉपियों में चिपका देती हूँ
      समयानुकार टाईप कर यहाँ रख देती हूँ
      जब तक गूगल है तब तक सुरक्षित तो है ही
      सादर

      Delete
  8. पोस्ट दिल को छू गयी.......कितने खुबसूरत जज्बात डाल दिए हैं आपने..........बहुत खूब
    बेह्तरीन अभिव्यक्ति .आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
    और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

    ReplyDelete