Saturday, September 13, 2014

हिन्दी दिवस की शुभकामनाएँ...........यशोदा

जानते हैं पर पुकारते नहीं












हमारी भूलने की
आदत बरकरार है
कोई हमारा भला करे तो
जल्दी भूल जाते हैं
और तब देर हो जाती है
भूलने में....
जब हमारे साथ कोई
खराब व्यवहार करता है

ठीक उसी तरह
हम भूल गए हैं
उन शब्दों को
जिन्हें हम
बचपन में माँ से सीखा था
वे शब्द हैं....
शाला, विद्यालय,
शिक्षक, गुरूजी,
बस्ता, जूता,
मां-पिताजी, कुर्सी, अखबार,
छुट्टी, घण्टी, खोज,
प्रेरणा, प्रयोग, स्याही, दावात,
कलम, स्लेट, खड़िया
होनहार, बुद्धिमान,बेवकूफ,
और भी अन्य शब्द हैं
जो उपयोग में आते हैं
सिरदर्द, बुखार, मंजन, नहानी,
चौका, रसोई, बरतन,
आलमारी, बिजली, मोमबत्ती
लिखती जाऊँगी तो
जगह ही नहीं बचेगी

आज हिन्दी दिवस है
और उसी हिन्दी को
जिसमें हमने अपना बचपन
जिया है..उसे ही भूल गए हैं
क्योंकि......
हमें भूलने की
आदत जो है...
और उस आदत से
हमें छुटकारा पाना है
-हिन्दी दिवस की शुभकामनाएँ

मन की उपज
-यशोदा

14 comments:

  1. बहुत सही और अच्छा लिखी हैं दीदी !
    हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ !

    सादर

    ReplyDelete
  2. कल 14/सितंबर/2014 को आपकी पोस्ट का लिंक होगा http://nayi-purani-halchal.blogspot.in पर
    धन्यवाद !

    ReplyDelete
  3. कितनी सच्चाई है इस इस में...एक ऐसी सच्चाई जिसका हर रोज सामना होता है.....
    सार्थक

    ReplyDelete
  4. सबके दिन फिरते हैं...हमारे प्रधानमंत्री सरकारी कार्यालयों और विदेशों में भी राजभाषा का प्रयोग कर रहे हैं...ये सराहनीय है...

    ReplyDelete
  5. वास्तव में हम अपनी भाषा को भूलते जा रहें हैं! एकदम सही बात आदरणिया यशोदा जी!
    धरती की गोद

    ReplyDelete
  6. बिल्कुल सही कहा

    ReplyDelete
  7. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (14-09-2014) को "मास सितम्बर-हिन्दी भाषा की याद" (चर्चा मंच 1736) पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच के सभी पाठकों को
    हिन्दी दिवस की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  8. बहुत ही शानदार और सराहनीय प्रस्तुति....
    बधाई मेरी

    नई पोस्ट
    पर भी पधारेँ।

    ReplyDelete
  9. सुन्दर प्रस्तुति !
    हिंदी दिवस की बधाई !
    दिल की बातें !

    ReplyDelete
  10. हिंदी दिवस पर शुभ्कामनाऐं । सुंदर भाव ।

    ReplyDelete
  11. हिन्‍दी दिवस की अनंत शुभकामनायें

    ReplyDelete
  12. वाह...सुन्दर और सार्थक पोस्ट...
    समस्त ब्लॉगर मित्रों को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं...
    नयी पोस्ट@हिन्दी
    और@जब भी सोचूँ अच्छा सोचूँ

    ReplyDelete
  13. सही और सार्थक प्रस्तुति के लिए बधाई आदरणीया यशोदा अग्रवाल जी | आपको भी हिंदी दिवस की हार्दिक शुभ कानाए

    ReplyDelete