Monday, January 1, 2018

कौन है हमसे बढ़के....केशव शरण

क्यों नसीबों की बात करते हैं
जब ग़रीबों की बात करते हैं 

फिर कहेंगे हमें उठाने को
वो सलीबों की बात करते हैं 

किनके अल्फ़ाज़ सबसे झूठे हैं
क्या अदीबों की बात करते हैं

जाइये मत अभी रक़ीबों पर
हम हबीबों की बात करते हैं 

कौन है हमसे बढ़के, आप अगर
बदनसीबों की बात करते हैं
-केशव शरण

6 comments:

  1. Happy New year, This new year become published author in just 30 days, send request :http://www.bookbazooka.com/

    ReplyDelete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल मंगलवार (02-01-2018) को नववर्ष "भारतमाता का अभिनन्दन"; चर्चा मंच 2836

    पर भी होगी।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    नववर्ष 2018 की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  3. उम्दा शानदार गजल।

    ReplyDelete
  4. सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete