Sunday, July 19, 2015

पुकारा तो ज़रूर होगा............सदा










कभी प्रेम 
कभी रिश्ता कोई 
बन गया हमनवां जब 
तुमने जिंदगी को 
हँस के गले 
लगाया तो ज़रूर होगा !
... 
मांगने पर भी 
जो मिल न पाया 
ऐसा कुछ छूटा हुआ 
बिछड़ा हुआ 
कभी न कभी 
याद आया तो 
ज़रूर होगा !!
... 
कोई शब्द जब कभी 
अपनेपन की स्याही लिए 
तेरा नाम लिखता
हथेली पे 
तुमने चुराकर नज़रें 
वो नाम 
पुकारा तो ज़रूर होगा!!!

-सदा





6 comments:

  1. दिनांक 20/07/2015 को आप की इस रचना का लिंक होगा...
    पुकारा तो ज़रूर होगा[मेरी पहली चर्चा] पर...
    आप भी आयेगा....

    ReplyDelete
  2. वाह बहुत खूब लिखा है ।

    ReplyDelete
  3. वाह बहुत खूब लिखा है ।

    ReplyDelete
  4. दिल को छूते ख़ूबसूरत अहसास...लाज़वाब प्रस्तुति..

    ReplyDelete
  5. दिल को छूते ख़ूबसूरत अहसास...लाज़वाब प्रस्तुति..

    ReplyDelete